1-एसडीएम सदर के समझाने के बाद छः घंटे बाद खुला जामधार्मिक स्थल पर मिट्टी डालने से मना करना पुलिस के लिए मुश्किल का सबब बन गया। आक्रोशित ग्रामीणों नें सड़क पर बैठकर जाम लगा दिया। सूचना पर कई थानों की पुलिस व आलाअधिकारी मौके पर पहुंचे।
थाना नवाबगंज से अचरा मार्ग पर स्थित ग्राम सलेमपुर में मुख्य मार्ग पर धार्मिक स्थल का निर्माण कर उसमे मूर्ति स्थापना की गयी है। ग्रामीण धार्मिक स्थल के निकट तालाब से मिट्टी लाकर उसमे डाल रहे थे। पुलिस नें मिट्टी डालने पर रोंक लगा दी। कुछ ग्रामीणों का कहना था कि निर्माण कार्य तालाब की भूमि पर कराया जा रहा है। जिस पर मन्दिर बनाने के पक्ष वाले ग्रामीण भड़क गये। ग्रामीणों नें नवाबगंज-अचरा मार्ग पर जाम लगा दिया। महिलायें ढोलक बजाकर पुलिस का विरोध करती दिखीं। पुलिस कर्मियों के हाथों में डंडे देखकर ग्रामीण भी लाठी-डंडे ले आये। ग्रामीणों नें आरोप लगाया कि हल्का इंचार्ज जितेन्द्र मिट्टी डालने के बदले अबैध बसूली की मांग कर रहा है। गुस्साये ग्रामीणों नें थानाध्यक्ष राकेश शर्मा को खदेड़ दिया। सुबह लगभग 10 बजे से लगभग चार बजे तक जाम लगा रहा। घटना की जानकारी पर तहसीलदार कायमगंज के आने के बाद भी ग्रामीणों नें जाम नही खोला। पुलिस के सामने महिलाए लाठी पटकर नारेबाजी कर रहीं है। सांसद मुकेश राजपूत के भतीजे राहुल राजपूत मौके पर पंहुचे और भीड़ को समझाने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण मानने को तैयार नही हुए। एसडीएम सदर अनिल कुमार के समझाने के बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।