कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा में लगायी आस्था की डुबकीन

 

नगरके पांचाल घाट पर कार्तिक पूर्णिमा के पावन अवसर पर मां गंगा में डुबकी लगाने के लिए भक्त सोमवार को सुबह से ही  घाट पर पहुँचे। दुर्वासा ऋषि आश्रम में बने मंदिर में दर्शन करने के साथ श्रद्धालुओं नें आस्था की डुबकी लगाकर पुन्य लाभ लिया| लागों ने सूर्योदय के पूर्व और बाद में घाटों पर पहुंच कर स्नान-ध्यान कर मंदिरों में पूजा-अर्चना की। कई श्रद्धालु दूर-दराज से आने के चलते ही घाटों पर ही अपना डेरा जमाए रहे। सूर्य की पहली किरण के साथ श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगा भगवान भास्कर को नमन किया। श्रद्धालुओं का जत्था रविवार की रात से घाटों पर अपना डेरा जमाने लगे थे। जिला प्रशासन की ओर से घाट पर सुरक्षा के विशेष इंतजाम भी किये गये थे।

हिन्दू धर्म में कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्थान का काफी महत्व है। इसके चलते सदियों से लोग इस मौके पर पर गंगा में स्थान और पूजा करते आ रहे हैं। इसी परंपरा के तहत  विभिन्न गंगा घाटों पर स्नान करने वालों की भीड़ लगी रही। स्नान के बाद श्रद्धालूओं ने फूल, अगरबती तथा दीपदान के माध्यम से गंगा की पूजा की। इसके चलते सोमवार तड़के से गंगा किनारे पांचाल घाट पर श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगायी।