रविवार को जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह नें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लिंजीगंज में फीता काटकर व ड्राप पिलाकर पल्स पोलियो अभियान का किया शुभारंभ किया। अभियान के तहत लगभग 2.95 लाख नौनीहालों को पोलियो की खुराक पिलाने का लक्ष्य है।
डीएम नें नवजात शिशुओं को पोलियों ड्राप पिलाकर कि दो बूंद पोलियो की दवा बच्चों को पोलियो रोग से मुक्त रखता है। पोलियो खतरनाक बीमारी है। पोलियो की दो बूंद पिलाने से खतरे को टाला जा सकता है। उन्होंने अपील करते हुए कहा इस बीमारी के प्रति सावधान रहें। अपने बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाने में कतई लापरवाही ना बरतें एक दूसरे के सहयोग से किसी भी रोग पर काबू पाया जा सकता है|

कुल 911 बूथों पर पिलायी जायेगी दो बूंद जिन्दगी की
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ प्रभात वर्मा ने कहा कि इस बर्ष आज से चलने वाले पोलियो अभियान में पोलियो की खुराक पिलाने के लिये कुल 911 बूथ बनाए गए हैं, जिनकी निगरानी के लिए 183 सुपरवाइजरों की ड्यूटी लगायी गई है। इस अभियान के दौरान लगभग 2.95 लाख से ज्यादा बच्चे को खुराक देने का लक्ष्य तय किया गया है । 691 टीमें घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाएँगी । इस अभियान में 14 मोबाइल टीमें और 43 ट्रांजिट टीमें लगाई गई है। इसके अलावा आज बूथ कवरेज के बाद छूटे बच्चों को दवा पिलाने के लिये प्रत्येक घर-घर जाकर टीम दवा पिलाएगी।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० वंदना सिंह, यूनिसेफ के डीएमसी राजीव चौहान, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ दलवीर सिंह, सिविल अस्पताल लिंजीगंज के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ मो आरिफ सिद्दीकी, आईओ साधना त्रिवेदी, यूनिसेफ के बीएमसी सादिया और सल्तनत आदि लोग मौजूद रहे ।