दिल्ली में दाखिल होने के लिए कोविड निगेटिव की रिपोर्ट जरूरी

कोरोना के बढ़ते मामलों को देख केंद्र सरकार की चिंताओं को बढ़ा दिया है. जिन 10 राज्यों में कोरोना के मामलों में एक बार फिर से उछाल देखने को मिला वहां केंद्र सरकार अपनी टीमें भेजेगी. जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम-बंगाल और जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार अपनी टीमें भेजेंगी. यह टीमें उन कारणों का पता लगाएंगी जिसकी वजह से कोरोना के मामलों एक बार से बढ़ते हुए दिखाई दे रही है. बताते चलें कि इन मामलों में इजाफों को देखते हुए केंद्र सरकार ने मंगलवार शाम को एक बैठक भी की थी.

जिन टीमों को केंद्र सरकार द्वारा चुने हुए राज्यों में भेज रही है, उनमें तीन-तीन सदस्य होंगे. तीनों सदस्य अलग-अलग डिसिप्लिन के होंगे. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब और जम्मू-कश्मीर को चिट्ठी लिखी है. स्वास्थ्य सचिव की चिट्ठी में कहा गया है कि अपने राज्यों में चेन तोड़ने पर फोकस कीजिए और सुनिश्चित कीजिए कि RT-PCR टेस्टिंग बढ़े.

बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में कुछ पाबंदियों को लागू किया गया है. अब दिल्ली में दाखिल होने के लिए कोविड निगेटिव की रिपोर्ट जरूरी होगी, हालांकि यह सिर्फ कुछ राज्यों से आ रहे लोगों पर लागू होगी, जिसमें महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब शामिल है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के दैनिक मामले बढ़ रहे हैं. केरल में पहले की तुलना में संक्रमण के मामले घट रहे हैं लेकिन अब भी संक्रमण के ज्यादा मामले आ रहे हैं. अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि पंजाब, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में संक्रमण के दैनिक मामलों में वृद्धि चिंता का विषय है.